This post is also available in: English, ગુજરાતી

कार्यकरो का क्षमतावर्धन

ट्रेनर्स ट्रेनिंग

  • p4p मे काम कर रहे लोगो की क्षमता बढाने के लिए उनके लिए TOT (Training of Trainers ) का आयोजन करना चाहिए ।
  • एक अथवा दो दिन का तालीम कार्यक्रम का उपायोजन कर सकते है ।
  • एक दिन मे 6 से 8 विषय ले ले ।

 

तालीम (प्रशिक्षण) के विषय

  • परिवार व्यवस्था की बच्चे पर असर
  • नशीले द्रव्यो का सेवन
  • क्रोध – गुस्सा
  • जातीय शिक्षण
  • तनाव मुक्ति के उपाय
  • तरूणो की परवरिश – मार्गदर्शन
  • बाल वर्तन
  • बाल परवरिश द्रारा सुक्ष्म हिंसा निवारण
  • बाल परवरिश की पद्धति
  • बालक के साथ व्यतित गया समय
  • बच्चो के साथ संवाद
  • बच्चो के भोजन के विषय मे
  • मीडिया की बच्चो पर असर
  • मूल्य
  • शांति के लिए बाल परवरिश
  • शिस्त
  • सर्वांगी विकास – श्रेष्ठ विकास

 

किसके लिए ऎसे प्रशिक्षण का आयोजन करे ?

  • p4p टीम के सभ्यो के लिए
  • टीम मे जुडना चाहते लोगो के लिए
  • प्रशिक्षण देने से टीम मे जुडने की संभावना
  • उपस्थित हो ऎसे लोगो के लिए ।
  • टीम मे न जुडे लेकिन खुद की स्कूल, संस्थामें शिक्षक, अभिभावको के प्रशिक्षण करने की इच्छा घारण करने वाले लोगो के लिए ।
  • प्रशिक्षक के रूप मे कार्यरत लोग जो अपने समय बिना किसी कीमत के p4p के लिए निकालना चाहते हो ।

सूचना : p4p क़ॆ प्रशिक्षण की प्रवृति बिना किसी मूल्य के की जाती है इसलिए ट्रेनर्स के प्रशिक्षण की भी कोई फीश नहीं रहेंगी । लेकिन चाय-पानी, नास्ता, भोजन का हुआ हो उतना खर्च ले सकते है । किसी संस्था का होल उपयोग मे ले उसका खर्च न करे ।

वैभव परीख : – 9099010677

 

स्वयंसेवक के जीवन मे बदलाव

  • व्यक्ति बच्चो को प्रेम और आनंदमय बचपन प्रदान करने के उद्देश्य से p4p अभियान मे जुडते है ।
  • बच्चो का कार्य उसे प्यारा है, इससे वे अभियान मे जुडते है ।
  • स्वयंसेवक के जीवन मे आता बदलाव व्यक्ति को अभियान मे जोडने के लिए प्रोत्साहन प्रदान कर सकता है ।
  • व्यक्ति अपनी मर्यादाओ के जूट रखकर असरदायी रूप मे सामाजिक प्रदान नहीं कर सकते है ।
  • अभियान मे जुडकर व्यक्ति को बदलना चाहिए ।
  • अहं बिना पद, प्रतिष्ठा पैसे की लालसा के बिना बच्चो को प्रेम और आनंदपूर्ण बचपन देने के पवित्र उद्देश्य से कार्य करने के लिए व्यक्ति मे बदलाव आवश्यक है ।
  • अहंभाव बिना टीम भावना से कार्य करने के लिए भी ये बदलाव जरूरी है ।
  • व्यक्ति के व्यक्तित्व का विकास होगा तो उसके योगदान की गुणवता मात्रा बढेगी ही ।
  • इस लिए स्वयंसेवक के व्यक्तित्व निर्माण की प्रवृतियाँ अभियान के महत्व की प्रवृति है ।
  • स्वयंसेवक के व्यक्तिगत जीवन तथा सामाजिक कार्य करने की क्षमता में बढावा हो एसी प्रवृतिओ का आयोजन करे ।
  • उसकी योग्यता का लाभ उसके व्यावसयिक जीवन मे भी हो सके जैसे कोम्युनिकेशन क्षमता के विकसित होते ही उसके व्यवसाय मे फायदा हो, वक्ता, ट्रेनर के रूपमे उसकी क्षमता बढे ।
  • p4p leadership Prog. इस उद्देश्य से ही शुरू किया गया है ।
  • p4p leadership program
  • दस सप्ताहो का प्रशिक्षण
  • सप्ताह मे 1 दिन 3 घंटे
  • प्रशिक्षण के दौरान व्यकित एक p4p Project लेगा और एक व्यक्तिगत, व्यावसायिक जीवन का प्रोजेक्ट लेगा ।
  • जीवन के किसी भी पहलू मे बद्लाव लाने के लिए वो प्रोजेक्ट बनाकर उसे कार्यांन्वित करने की क्षमता कार्यकर मे उत्पन्न करना ही इस कार्यक्रम का उद्देश्य है ।
  • कार्यक्रम की क्षमता बढाने के लिए Role based प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन कर सकते है –
  1. सूचित रोल बेज्ड प्रशिक्षण
  2. ट्रेनर का प्रशिक्षण
  3. Public Relation का प्रशिक्षण
  4. युवा परिवार सज्जता मोड्युल शुरू करने का प्रशिक्षण ।
  5. आत्महत्या निवारण कार्यक्रम देने का प्रशिक्षण ।
  6. डिस्लेक्षीया के विषय में ट्रेनर बनने का प्रशिक्षण ।
  7. स्कीट करने का प्रशिक्षण ।